Gadarenes Ke Iss Paar

खुश था मैं ज़िन्दगी में। पता नही किस मनहूस घड़ी ने दस्तक दे दी। दम घूँटता है इस अंधेरे में। इन मुर्दों के बीच जीवित